कब थमेगी नवनीत राणा और ओवैसी ब्रदर्स के बीच की जुबानी जंग ?

 10 May 2024  118
संवाददाता/in24 न्यूज़। 
 

देश में चुनाव हो और नेताओं की बदजुबानी ना देखने को मिले ऐसा तो संभव ही नहीं है. जब भी चुनाव होते हैं राजनेता एक दूसरे पर छींटाकशी करते करते कभी कभी ऐसी बातें कह जाते है जो ना सिर्फ अशोभनीय होती है बल्कि समाज और लोगों के बीच दुश्मनी बढ़ाने का भी काम करती है. हर आम चुनाव की तरह इस बार के लोकसभा चुनाव में भी नेताओं की बदजुबानी खूब सामने आ रही हैं.चाहे वो किसी भी दल के क्यों न हो? लेकिन इन सबके बीच इन दिनों अमरावती से बीजेपी की उम्मीदवार नवनीत राणा को लेकर सियासी घमासान जमकर देखने को मिल रहा है. दरअसल बीते दिनों बीजेपी उम्मीदवार माधवी  लता  के लिए चुनाव प्रचार करने हैदराबाद पहुंची नवनीत राणा ने ओवैसी भाइयों को निशाने पर लिया था. इस दौरान उन्होंने भड़काऊ भाषण देते हुए कहा था कि 15 सेकंड के लिए पुलिस हटा लो ये दोनों भाइयों को गायब कर देंगे। उन्हें पता भी नहीं चलेगा कि कहां से आए और कहा गए. नवनीत राणा के बयान पर पलटवार करते हुए एआईएमआईएम के नेता वारिस पठान ने पलटवार किया और कहा कि नवनीत राणा चुनाव हारने के डर से इस तरह के अनर्गल बयान दे रही है.

      नवनीत राणा के बयान के खिलाफ ओवैसी की पार्टी ने चुनाव आयोग से शिकायत की है.पठान ने कहा कि ऐसे बयान दो समुदाय के बीच दुश्मनी पैदा करते हैं. उन्होंने चुनाव आयोग पर सवाल उठाते हुए पूछा है कि चुनाव आयोग नवनीत राणा के खिलाफ कब कार्रवाई करेगा और उन्हें जेल कब भेजेगा। वहीं अब नवनीत राणा के बयान पर हैदराबाद से सांसद और एआईएमआईएम के मुखिया असदुद्दीन ओवैसी ने भी पलटवार किया है. दरअसल ओवैसी का एक वीडियो सामने आया है जिसमें वो नवनीत राणा के बयान का जिक्र करते हुए कहा कि हम दोनों भाई कोई मुर्गी नहीं है जिन्हे 15 सेकंड में गायब कर दोगे। इस दौरान उन्होंने अपने छोटे भाई की भी जमकर तारीफ की और कहा कि वो तोप जिसे मैंने रोक रखा है.
 
 
       हालांकि एक बार फिर नवनीत राणा ने ओवैसी ब्रदर्स पर हमला बोला और अपने बयान पर कायम है. दरअसल नवनीत राणा ने अकबरुद्दीन ओवैसी के उस बयान पर पलटवार किया है जिसमे उन्होंने कहा था कि 15 मिनट के लिए पुलिस हटा लो फिर देखना कैसे 100 करोड़ पर 20 करोड़ भारी पड़ते है। बहरहाल अब देखना ये दिलचस्प होगा कि नवनीत राणा और ओवैसी ब्रदर्स के बीच शुरू ये जुबानी जंग का थमती है. इसके अलावा निगाहें चुनाव आयोग पर भी होंगी की आखिर नवनीत राणा के इस बयान पर वो क्या एक्शन लेता है.फ़िलहाल लोकसभा चुनाव के दो चरण बाकी है ऐसे में आने वाले समय में और कितनी बदजुबानी देखने को मिलेगी।